Nind puri nahi hone par kya nuksan hota hai

Nind puri nahi hone par kya nuksan hota hai

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के जिंदगी जीने का तरीका पूरी तरह से बदल चुका है। आजकल लोग ज्यादा व्यस्त रहने लगे हैं और स्मार्टफोन के आने के बाद तो लोग और भी व्यस्त रहते हैं। ऐसे में उन्हें पता नहीं चलता कि कब सोना है, कब खाना है और कब उठना है।

जिस तरह पोषक तत्व हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है उसी तरह पर्याप्त नींद लेना भी शरीर के लिए बहुत जरूरी है। यदि आप पर्याप्त नींद नहीं लेंगे तो आपको गंभीर बीमारियां भी हो सकती है। आज कि इस आर्टिकल में हम आपको कम सोने के नुकसान के बारे में आपको बताएंगे। इसके बारे में जाने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Kam sone ke kya nuksan hai

यहां हम कम सोने के क्या क्या नुकसान है इसके बारे में बताने जा रहे हैं।

1 – प्रतिरक्षा प्रणाली का कमजोर हो जाना

कम सोने से मनुष्य की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है और इससे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी के अनुसार नींद का इम्यूनोलॉजिकल प्रोसेस के साथ एक मजबूत संबंध होता है। इसीलिए अगर कोई व्यक्ति कम नींद लेता है तो उसका प्रतिरक्षा प्रणाली बहुत कमजोर हो जाता है।

इस रिसर्च में ऐसा बताया गया है कि अगर कोई व्यक्ति कम नींद लेता है तो उसके अंदर तनाव की स्थिति आ जाती है और कम नींद और तनाव को मिलाकर प्रतिरक्षा प्रणाली पर बहुत बुरा असर डालती है।

इस रिसर्च में एक और बात बताया गया है कि कम होने वाले लोगों के शरीर में कोई भी व्यक्ति अच्छे तरीके से काम नहीं करती है। अगर उस व्यक्ति के शरीर में किसी बीमारी से बचने के लिए वैक्सीन लगाया जाता है तो उस व्यक्ति पर उस वैक्सीन का कोई प्रभाव नहीं आता है साथ ही उस व्यक्ति पर उस व्यक्ति का बुरा सभी पड़ सकता है। कम सोने से मानव के शरीर में वायरस और बैक्टीरिया से बचने की क्षमता खत्म हो जाती है।

2 – प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ना

जो व्यक्ति कम नींद लेते हैं उनके प्रजनन क्षमता पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। कम नींद लेने के कारण शरीर में शुक्राणु की संख्या और उनके जीवित रहने की दर बहुत कम हो जाती है। इसके साथ ही कम नींद लेने के कारण एंटी स्पर्म एंटीबॉडी का स्तर बढ़ जाता है। जिसके कारण शुक्राणुओं को और ज्यादा नुकसान पहुंचता है और इससे प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता है।

कुछ महिलाओं पर किए गए रिसर्च में यह पता चला है कि कम नींद के कारण पुरुषों की तुलना में महिलाओं की प्रजनन क्षमता ज्यादा प्रभावित होती है। इसके के साथ ही महिलाओं में मासिक धर्म, गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति भी प्रभावित होती है।

3 – मोटापा होना

जो व्यक्ति हम सोते हैं या अनिद्रा के शिकार होते हैं वह अक्सर मोटापे का भी शिकार हो जाते हैं। एक रिसर्च में यह पता चला है जो व्यक्ति 5 घंटे या उससे कम नींद लेते हैं उनके शरीर में फैट बढ़ जाता है। अगर आप कम सोते हैं या नींद में खलल हो जाती है तो भी मोटापा होने का खतरा बढ़ जाता है।

4 – पाचन की समस्या

अक्सर आपने गौर किया होगा कि अगर आप रात में कम सोते हैं तो सुबह उठने पर एहसास होता है कि रात में किया गया भोजन ठीक से नहीं पचा है। कम सोने से शरीर में पाचन की समस्या पर बहुत बुरा असर पड़ता है। कम सोने के कारण मनुष्य में आंतों में सूजन लीवर संबंधी रोग गैस्टिक इत्यादि बीमारियां देखने को मिलती है।

5 – कैंसर

कई लोग कम नींद लेने की वजह से कैंसर का भी शिकार हो जाते हैं। एक रिसर्च में यह पता चला है कि कम नींद लेने की वजह से ट्यूमर के गठन का जोखिम बढ़ जाता है जिससे कैंसर हो जाता है। इस रिसर्च में यह भी सामने आया है कि नींद कम लेने के कारण ब्रेस्ट कैंसर का भी खतरा बढ़ जाता है। अगर इंसान कम नींद ले तो मेलाटोनिन का स्तर प्रभावित हो जाता है और कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

6 – रक्तचाप की समस्या होना

कम नींद लेने वाले व्यक्तियों को रक्तचाप की भी समस्या होती है। रक्तचाप पर हुए एक रिसर्च में पता चला है कि जो व्यक्ति कम नींद लेते हैं या खराब नींद का शिकार होते हैं उन्हें रक्तचाप की समस्या होती है। किसी भी व्यक्ति में नींद की कमी या कम गुणवत्ता वाली नींद मैं बदलाव एक न्यूरोबायोलॉजिकल और शारीरिक तनाव के रूप में कार्य करता है जो मनुष्य के मस्तिष्क के कार्य को बिगाड़ देता है इसके कारण रक्तचाप की समस्या बढ़ जाती है।

7 – कम उम्र में ही बुढ़ापे का शिकार होना

जो लोग रात को देर से सोते हैं और कम नींद लेते हैं उनका शरीर जवानी में ही बुढ़ापे की तरह दिखने लगता है। एक रिसर्च के मुताबिक नींद कम लेने के कारण त्वचा की इलास्टिसिटी में कमी आ जाती है। नींद कम लेने के कारण लोग थके हुए दिखते हैं। उनकी आंखों के पलके लटकी हुई और आंखें लाल और सूजी हुई दिखती है। साथ ही ऐसे लोगों के आंख के नीचे काले घेरे पड़ जाते हैं और त्वचा पीली पड़ जाती है। उनके चेहरे पर बहुत कम उम्र में ही झुर्रियां दिखने लगती है।

7 – हमेशा मूड खराब रहना

जो भी लोग कम नींद लेते हैं उनका मूड अक्सर खराब रहता है। अगर आप उनसे कोई बात करने जाएं तो वह बहुत जल्द ही चिड़चिड़ा हो जाते हैं। क्योंकि नींद कम लेने के कारण इसका असर सीधा हमारे मस्तिष्क की कार्यप्रणाली पर पड़ता है। एक रिसर्च के अनुसार मनुष्य को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए प्रतिदिन कम से कम 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए अगर ऐसा नहीं होता है तो आप चिंता अवसाद मूड खराब जैसी समस्याओं के शिकार हो सकते हैं।

किस उम्र में कितनी नींद की आवश्यकता होती है

किसी मनुष्य को उसके उम्र के अनुसार नींद की आवश्यकता होती है। जैसे किसी नवजात बच्चे को कम से कम 16 से 18 घंटे की नींद की जरूरत होती है। किसी बच्चे के लिए कम से कम 10 से 12 घंटे की नींद जरूर होनी चाहिएह किशोरावस्था में कम से कम 9 से 10 घंटे की नींद जरूर होनी चाहिए और वयस्कों को कम से कम 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें – Dublapan kaise dur kare

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने बताया है कि अगर आप कम नींद लेते हैं तो आपको किन किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। किसी व्यक्ति को कम से कम 8 घंटे नींद जरूर लेनी चाहिए। अगर आपको हमारे आर्टिकल से संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.